बड़ा अच्छा लगता है... धन्यवाद...

आज, हमेशा की ही तरह, अपनी एक नई रचना को आप सभी के सामने प्रस्तुत करने आई थी।
पर आज ज़रा-सी उल्टी गिनती गिन ली। आमतौर पर पहले अपने ब्लॉग पे आती, या अपना डैशबोर्ड देखती, या फ़िर जिन ब्लोग्स पर कमेन्ट करना होता वहां जाती और फ़िर आख़िरी में अपने ई-मेल्स चेक करती... पर आज, न जाने क्यूं ई-मेल अकाउंट पहले चेक करने पहुँच और जो देखा उसपर मुझे तो यकीन न के बराबर हुआ... और फ़िर क्या, पूरा मेल पढ़ा, जो लिखा था उसे जाकर सही होने की पुष्टि की और फ़िर तो बस पूछिए मत... ख़ुशी इतनी की बस चली आई आप सभी के साथ यहाँ बाँटने... रहा नहीं गया मान लीजिये...
क्या है, हम जैसे नवजात ब्लोग्गर्स को इतनी खुशी भी बहुत बड़ी लगती है... हो सकता है आप लोगों के लिए ऐंवे-टाईप बात हो... पर मेरे लिए तो बड़ी है... और सबसे बड़ी बात... मै खुश हूँ...
धत तेरे की॥ बात तो बताई ही नहीं... हाँ जी तो बात यह है की मेरी कविता... "एक शुरुआत... अंत के बाद..." जागरण-जंक्शन के फीचर्ड ब्लोग्स में सेलेक्ट हुई है....
मेरा हौसला बढाने, मुझे हमेशा प्रेरित करने एवं मार्गदर्शन के लिए हार्दिक धन्यवाद... इसी साथ एवं मार्गदर्शन की आशा हमेशा रहेगी...

ये रही लिंक...

http://jagranjunction.com/

27 comments:

  1. bahut bahut badhaai.......yun hi mazil chalker paas aaye

    ReplyDelete
  2. बहुत-बहुत धन्यवाद मैम... बस यूँही आशीर्वाद बनाए रखें...

    ReplyDelete
  3. पूजा जी बहुत बहुत बधाई……………वो कविता है ही इसी लायक्…………एक नयी सोच और दिशा देती है……………आप आगे भी नये नये मुकाम हासिल करती रहें यही दुआ है।

    ReplyDelete
  4. @वंदना जी... बहुत-बहुत शुक्रिया... बस आप लोगों की दुआएँ साथ रहें... मेरी तरफ से कोशिश जारी है...

    ReplyDelete
  5. congratulations and celebrations............
    I'm so much happy for you sweety, kaha tha na ki tu bas apna kaam kar, ek din zaroor duniya tujhe aur tere hunar ko pahchanegee. Abhi to ye sirf shuruaat hai, dagmagana mat, ham sab tere saath hai. Tujhe ham sabhi ka sar fakra se oonchaa karna hai aur khud ka naam is aasman mei likhn a hai.

    ReplyDelete
  6. @Archi... Thank you so much dear... I hope to fulfill all your deeds... bas yunhi haanth thame rahna... and haan, dagmagaungee kaise jab tujh jaise dost saath ho to... thank you so much...

    ReplyDelete
  7. @वंदना जी... एक छोटी-से गुज़ारिश है... प्लीज़ मुझे "जी" न कहे... मै आपसे उम्र एवं तजुर्बे दोनों में बहुत छोटी हूँ... आप तो बस मार्गदर्शन दीजिये, इतनी आशा है...

    ReplyDelete
  8. bhn pujaa ji bhut bhut mubark ho hm bhi aapki is khushi men shaamil he lekin hm aap ke kthnon se shmt nhin he jisme aapne khud ko nachiz khaa he yeh aapka bdppn ho skta he lekin aapki rchnaa vaaqyi vaaqyi isse bhi bulndi pr phunchne vaali hen . akhtar khan akela kota rajsthan

    ReplyDelete
  9. बहुत बहुत बधाई..अब तो चर्चित ब्लॉगर हो गईं आप. :)

    अनेक शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  10. पूजा जी बहुत बहुत बधाई.......संजय भैया की तरफ से ढेर सारी शुभकामनायें.

    ReplyDelete
  11. मेरी दुआएँ आपके साथ है मेरी यही कामना है मेरी बहन हर दिन नये नये मुकाम हासिल करे

    संजय भास्कर

    ReplyDelete
  12. अच्छे भविष्य के लिए हार्दिक शुभकामनाएं !

    ReplyDelete
  13. [मूल्यांकन से बाहर पोस्ट]


    बहुत बहुत मुबारक
    आपकी रचना 'जागरण जंक्शन' में न भी सलेक्ट होती, तब भी आपकी कविता के अच्छा होने में कोई संदेह नहीं था . आप बस पूरे दिल से सृजन करते रहिये .... ऐसे ख़ुशी के पल न जाने कितने और भी आयेंगे.

    ReplyDelete
  14. पूजा जी,
    बधाई स्वीकार करें.

    ReplyDelete
  15. अच्‍छा लगना ही चाहिए। पूजा बस सकारात्‍मक,सार्थक और ऐसा ही लिखती रहो। लोग ढुंढढूंढकर पढ़ने आएंगे। बहुत बहुत बधाई।

    ReplyDelete
  16. बहुत बहुत बधाई ...और कविता सच ही बहुत अच्छी है

    ReplyDelete
  17. मौलिक सृजन को ऐसे प्रोत्साहन और भी पुष्पित पल्लवित करते हैं -
    आपकी मौलिकता पुरस्कृत हुयी है, बधाई !

    ReplyDelete
  18. @अख्तर जी, उड़न तश्तरी जी, भैया, पूर्वीय जी, सतीश जी, उस्ताद जी, दीपक जी, राजेश जी, संगीता जी, अरविन्द जी... आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद...

    @अख्तर जी... जी नहीं ऐसा नहीं है... सच में मै अभी सिर्फ एक नवजात हूँ इस जगत में... बाकी आप लोगों के साथ की कामना है, मेरी तरफ से कोशिश यूँही जारी रहेगी...

    @उड़न तश्तरी जी... नहीं सर... अभी तो मंजिले कई तय करनी है... आप लोगों से अभी बहुत कुछ सीखना है... यूँही मार्गदर्शन करते रहे... धन्यवाद...

    @भैया... बस यूँही दुआएँ डेट रहिएगा... और साथ की हमेशा आशा करती हूँ...

    @उस्ताद जी... मूल्यांकन न करने के लिए धन्यवाद... बस आप लोग आशीर्वाद और मार्गदर्शन देते रहेंगे तो जरूर मंज़िल प्राप्त होगी... धन्यवाद...

    @राजेश जी... बहुत-बहुत धन्यवाद सर... बस आप लोगो के आशीर्वाद, सहयोग एवं मार्गदर्शन की जरूरत है... मै तो सिर्फ कोशिश कर सकती हूँ, सो कर रही हूँ...

    ReplyDelete
  19. @प्रवीण जी... बहुत-बहुत धन्यवाद...

    ReplyDelete
  20. सर्वप्रथम बहुत बहुत बधाई हो एक रचनाकार की रचना जिसका सृजन उसने किया हो मुकाम तक पहुचे तो वास्तव में उसे बहुत ख़ुशी होती है और आपने अपनी खुशियों को हम सब के बिच बाटा उसके लिए धन्यवाद कहते है न की खुशिया बाटने से बढती है!आपने अपनी और हम ब्लॉग मित्रो की खुशियों को बढाया पुन: बधाई हो ..............................

    ReplyDelete
  21. @अमरजीत जी... बहुत-बहुत धन्यवाद... आप लोगों की शुभकामनायें एवं साथ यूँही मेरा मार्गदर्शन करता रहे, यही शान हमेशा रहेगी... मै तो सिर्फ अपनी तरफ से कोशिश कर सकती हूँ... सो सदैव करती रहूंगी...

    ReplyDelete
  22. @Kshama ji... Thank you so much...

    ReplyDelete
  23. bahut-bahut badhaior dheron shubhkaanayen....

    ReplyDelete
  24. @P S Bhakuni ji... thank you so much...

    ReplyDelete