सफ़ेद आसमाँ...

जब भी परेशान होती हूँ
और कुछ सूझता नहीं...
तब आ जाती हूँ
इस सफ़ेद दुनिया में
और भरने लग जाती हूँ
अपना पसंदीदा रंग इसमें...


जिधर दिल कहता है
उसी दिशा में चलती हूँ...
जो मन में आता है
वही चित्र बनाती हूँ...
और तब तक अपना paint-brush चलाती हूँ
जब तक
दिल-दिमाग़ शांत न हो जाए
और वो बोझ न हट जाए,
भीतर से निकल न जाए...

जो लेकर मैं
इस सफ़ेद आसमाँ के पास आई थी...

74 comments:

  1. बहुत खूब. एक दिन अपनी सफ़ेद दुनिया मैं बहुत ही खूबसूरत रंग भरोगी.. बेहतरीन अंदाज़

    ReplyDelete
  2. @मासूम जी, संगीता जी... बहुत-बहुत धन्यवाद... यूँहीं आशीर्वाद देते रहें...

    ReplyDelete
  3. और यह सफेद दुनिया ......आपके लिये बहुत सुखद बन जाये......शुक्रिया

    ReplyDelete
  4. @केवल जी... धन्यवाद... आपक लोगों की दुआएँ और साथ रहा तो जरूर बन जाएगी...

    ReplyDelete
  5. पूजा जी
    नमस्कार !

    बहुत भावपूर्ण है आपकी रचना -
    … आ जाती हूं इस सफ़ेद दुनिया में
    और भरने लग जाती हूं अपने पसंदीदा रंग …


    ईश्वर से प्रार्थना है, आपकी सारी परेशानियां समाप्त हों, और आपकी दुनिया हर बोझ से मुक्त और शांत हो ! आपका आसमां आपके पसंदीदा रंगों में सदा हंसता मुस्कुराता रहे !

    ~*~बधाई और मंगलकामनाएं !~*~

    शुभकामनाओं सहित
    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    ReplyDelete
  6. कथित सफ़ेद दुनिया में अपनी इच्छानुसार रंग भर सकोगी ,तुम्हारे अन्दर वो क्षमता है.

    ReplyDelete
  7. मन की व्यग्रता को भौतिक अभिव्यक्ति देना अच्छा होता है। आपकी व्यग्रता भी इतनी सुन्दरता से निकली है।

    ReplyDelete
  8. पूजा जानती हो न सफेद रंग शांति का प्रतीक है। उम्‍मीद है हर दिन इस सफेद रंग के कैनवास पर आप खुशहाली और विकास के रंग भरती रहें।

    ReplyDelete
  9. "तब आ जाती हूं इस सफ़ेद दुनिया मे और भरने लग जाती हूं अपने पसंदीदा रंग" … सफ़ेद कागज हर कलाकार का सपना होता है क्योंकि वहां सबकुछ उसका अपना होता है-अपनी हसरत,अपनी चाहत,अपनी कल्पना की उड़ान क्योंकि वहां होती है शांति मन की.बेहद खूबसूरती से अपने मन को उकेरा है आपने.

    ReplyDelete
  10. bahut sunder ...meaningful...badhayee aapko.

    ReplyDelete
  11. tab tak paint brush chalana , jab tak sukun na ho ... manzil tabhi haan tabhi milti hai

    ReplyDelete
  12. @राजेंद्र जी, कुंवर जी, प्रवीण जी, राजेश जी, राजीव जी, प्रमोद जी, बड़ी माँ, यशवंत जी... बहुत-बहुत धन्यवाद... बस आप लोगों के साथ की ही जरूरत रहेगी हमेशा..

    ReplyDelete
  13. भाव आसमां है
    आसमां नीला
    फिर सफेद ...
    जरूर मन है

    ReplyDelete
  14. Pooja ji
    duniya me apne rang bharte rahiye.
    Shubhkamnaye

    ReplyDelete
  15. सुंदर रंग भर गए हैं, शब्‍द चित्र में.

    ReplyDelete
  16. @अविनाश जी, दीपक जी, राहुल जी... बहुत-बहुत शुक्रिया... बस कोशिश करती हूँ, बाकी आप लोगों का प्रोत्साहन ही है जो काम करता है...

    ReplyDelete
  17. पूजा जी ! गलियों -चौबारों से होता हुआ आपके गाँव तक आ ही गया आज .......फूल और तितलियाँ अच्छी लगीं. ये तितलियाँ भी फूलों पर घूम-घूम कर लिखती रहती हैं कुछ. .......कभी-कभी एक छोटे से आदान-प्रदान के बाद फूलों के कान में चुपके से कहती हैं ...बधाई हो .......फल बनने की तैयारी शुरू करिए आज से.
    सफ़ेद आसमां नीले आसमां की तुलना में छोटा है ..पर है अपनी पहुंच में ......यह भरमाता नहीं ....सब्ज़ बाग़ नहीं दिखाता .....हकीकत में एक मुट्ठी आकाश होता है हमारी टेबल पर ...पूरी तरह हमारा ....कैसे भी रंग सजाओ .....जी भर ....अपनी दुनिया ...अपना संसार. और हाँ ! डाक्टर कहते हैं - तनाव दूर करने का सबसे अच्छा साधन है ये सफ़ेद आसमां.
    पूजा जी ! एक प्यारे से ख़्याल को आकार देने के लिए आदाब !

    ReplyDelete
  18. vakai bahut hi sundar likha hai aapne.good morn...badhai

    ReplyDelete
  19. पूजाजी बहुत सुन्दर रचना...सफ़ेद आसमान में पसंदीदा रंग भरते रहिये...वधाई!!

    ReplyDelete
  20. @कौशलेन्द्र जी, जयकृष्ण जी, अंकुर जी... बहुत-बहुत धन्यवाद... आशा है आगे भी आप लोगों का यूँहीं प्रोत्साहन पा सकूंगी...

    @कौशलेन्द्र जी... जी शुक्रिया... परन्तु मेरी नज़र में ये सफ़ेद आसमा इतना बड़ा है की उस नीले आसमा और उसकी हरकतों को भी खुद में समेट लेता है... खैर ये अपनी-अपनी सोच का दायरा है... अपने विचारों से अवगत करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद...

    ReplyDelete
  21. वाह ....बहुत ही खूब कहा है आपने ।

    ReplyDelete
  22. पूजा जी,

    सफेद रंग को मैं तो सभी रंगों का मिश्रण जानता हूँ, फिजिक्स के एक प्रयोग में यही सीखा था। उस सफेद रंग से हम रंग चुराने का प्रयास करते हैं जब भी कागज पर कुछ लिखा जाये या बनाये जायें चित्र, वो सब हमारे हिस्से में आये हुये रंग की प्रकृति के अनुरूप ही भाव पैदा करते हैं।

    अच्छी रचना के लिये बधाई....
    सादर,

    मुकेश कुमार तिवारी
    कवितायन

    ReplyDelete
  23. Pooja ji behtreen Rachna ka liye badhai.man k bhavo ko itni khubsurti se bayan kiyahai aapne ki ab sabd nahi bache hai ki kuch aur kaha jaye............umda rachna

    shukriya mere blog p aane k liye
    aapka intejaar rahega

    ReplyDelete
  24. ज़िदगी के सफेद आसमां पर विचारों की तूलिका से रंग भरना....यही तो जीवन है।

    इस अच्छी कविता के लिए बधाई।

    ReplyDelete
  25. अगर किसी को सफेद दुनिया मिल सके तो कितना अच्छा हो .... अपने अनुसार रंग तो भर सकता है वो ...
    भावपूर्ण रचना ...

    ReplyDelete
  26. bouth he aacha post hai aapka pooja jii... read kar ke aacha lagaa .. ty

    Pleace visit My Blog Dear Friends...
    Lyrics Mantra
    Music BOl

    ReplyDelete
  27. बहुत सुन्दर भावपूर्ण कविता| धन्यवाद|

    ReplyDelete
  28. चर्चा मंच के साप्ताहिक काव्य मंच पर आपकी प्रस्तुति मंगलवार 25-01-2011
    को ली गयी है ..नीचे दिए लिंक पर कृपया अपनी प्रतिक्रिया दे कर अपने सुझावों से अवगत कराएँ ...शुक्रिया ..

    http://charchamanch.uchcharan.com/

    ReplyDelete
  29. Puja ji,
    Shabdon ki tulika se jiwan ke canvas par abhivyakti ka bahut hi khubsurat rang bhara hai.

    ReplyDelete
  30. पूजा
    इस अच्छी कविता के लिए बधाई।
    इतने सारे खूबसूरत एहसास एक साथ ...
    कैसे समेटे इन्हें एक टिप्पणी में
    बहुत ख़ूबसूरत हमेशा की तरह ...!

    ReplyDelete
  31. @सदा जी, मुकेश जी, अमरेन्द्र जी, महेंद्र जी, दिगंबर जी, मनप्रीत जी, पताली, संगीता जी, ज्ञानचंद जी, भाई... बहुत-बहुत धन्यवाद... इस मार्गदर्शन एवं आशीर्वाद की हमेशा जरूरत रहती है...

    @संगीता जी... जी जरूर... बहुत-बहुत शुक्रिया जगह प्रदान करने के लिए...

    ReplyDelete
  32. जीवन के इस आसमान के हर कतरे में रंग भर जाए.........शुभकामनाएं!!

    ReplyDelete
  33. बस यही सत्य है अपने मन के हर भाव को उकेर देना और फिर नये सफ़र पर चल देना॥॥सुन्दर प्रस्तुति।

    ReplyDelete
  34. सफेद दुनिया, जहां किसी का दखल नही, किसी का लाग लपेट नही………इसे मन माफ़िक़ सजा लें और ज़िंदगी का मज़ा लें। बहुत ही सुंदर मार्मिक कविता, ज़िन्दगी खुशियों के रंगो से सराबोर रहे नित्…………इन्ही शुभकामनाओं सहित्………बहुत बहुत बधाई॥

    ReplyDelete
  35. saahitya ek saadhana hai. aap sadhanaarat hai. badhai...shubhkamnaye, ki aur behatar likhe. aur kabhi-kabhar aatee rahe.

    ReplyDelete
  36. पहली नजर में दुनिया सफेद ही लगती है।इस सफेद दुनिया को जिस रूप में मन चाहे रंगा जा सकता है।आपनी दुनिया को अपने पसंदीदा रंग में रंगने का आपका प्रयास मन को कहीं न कहीं पल भर के लिए ही सही आंदोलित कर गया। नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  37. @पलाश जी, शिखा जी, वंदना जी, सूर्यकांत जी, गिरीश जी, अंकुर, प्रेम सरोवर... आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया... हमेशा इस प्रोत्साहन की जरूरत रहेगी...
    आप सभी को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ...

    ReplyDelete
  38. आप सब को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएं.
    सादर
    ------
    गणतंत्र को नमन करें

    ReplyDelete
  39. गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  40. बहुत सुन्दर रचना है

    आप को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएं!

    ReplyDelete
  41. गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाइयाँ !!

    Happy Republic Day.........Jai HIND

    ReplyDelete
  42. Nice post.
    मेरे ब्लाग पर टिप्पणी के लिए आपका शुक्रिया ।
    मैं अपने प्यारे ब्लाग प्यारी मां में आपको एक लेखिका के तौर पर जुड़ने के लिए आमंत्रित करता हूं ।
    Please send your email id .
    eshvani@gmail.com

    http:pyarimaan.blogspot.com

    ReplyDelete
  43. आप सभी को भी बधाइयाँ...
    @अनवर जी... बहुत-बहुत शुक्रिया इस आमंत्रण के लिए...

    ReplyDelete
  44. अच्छी रचना
    इस बार मेरे ब्लॉग में क्या श्रीनगर में तिरंगा राष्ट्र का अहित कर सकता है

    ReplyDelete
  45. बहुत सुन्दर भावपूर्ण रचना

    ReplyDelete
  46. रेचन करने का तरीका बहुत पसंद आया जी , सफेद आसमाँ में रंग भरना अपने दिल से ...सुंदर भाव !!!

    ReplyDelete
  47. Dil aur man ki shanti ke liye safed dunia me aana bahut acchi baat hai.Lakin shant man se safed dunia me aakar rang bhare to aur bhi khoobsurat rachanatamak rang bharenge.Aapke rang me sabhi sarabor ho jaye yehi meri shub kamana hai.

    ReplyDelete
  48. जीवन के सुन्दर एहसास हर रंग का जीवन मे महत्व है जिसे इन्सान अपनी इच्छा अनुसार देख पढ लेता है। बधाई इस रचना के लिये।

    ReplyDelete
  49. पूजा जी जन्म दिन हार्दिक शुभकामनायें ...स्वीकार करें
    आपके जीवन में खुशियों का और सफलताओं का संगम हमेशा बना रहे यही कामना है ...शुक्रिया

    ReplyDelete
  50. पूजा, आपको जन्मदिन की लख लख बधाईयां
    ईश्वर करे ये दिन आपकी जिन्दगी मे हजारों बार आये

    ReplyDelete
  51. जन्म दिन की हार्दिक शुभकामनायें.

    ReplyDelete
  52. जन्‍मदिन की ढेर सारी शुभकामनाएं ...आपके सफलता के नित नये आयाम छुयें ...।

    ReplyDelete
  53. जन्‍मदिन की ढेर सारी शुभकामनाएं |

    ReplyDelete
  54. जन्मदिन की ढेरों शुभकामनाएँ !

    ReplyDelete
  55. Happy Birthday Pooja........

    ReplyDelete
  56. पूजा जी, जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें

    ReplyDelete
  57. पूजाजी, जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाये एव बधाई !

    ReplyDelete
  58. ईश्वर करे आपको दुनिया के सारे खुशबूदार रंग मिलें ।
    जन्मदिन की ढेर सारी बधाइयां .........

    ReplyDelete
  59. मेरी शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  60. @अमरजीत जी, कविता जी, मनोज जी, राकेश जी, निर्मला जी... बहुत-बहुत धन्यवाद... इसी तरह प्रोत्साहन की आशा हमेशा रहेगी...

    ReplyDelete
  61. @केवल जी, दीपक जी, अशोक जी, बाऊजी, सदा जी, पलाश जी, इन्द्रनील जी, संध्या जी, उपेन्द्र जी, कोरल जी, निवेदिता जी, सतीश अंकल... आप सभी को बहुत-बहुत धन्यवाद... मेरे जन्मदिन को इतना ख़ास बनाने के लिए...

    ReplyDelete
  62. उम्मीद है आपका जन्मदिन बहुत अच्छा बीता होगा । भाई की कविता भी पसन्द आई होगी । बधाई स्वीकारे ।
    कोरे सफ़ेद कागज़ पर यूँ ही रंग भरते रहिये, ज़िन्दगी का कैनवस रंगो से खिल जायेगा ।

    ReplyDelete
  63. tab tak paint brush pakde rahti hun jab tak............


    great..........

    ReplyDelete
  64. kya baat hai dost bahut hi khoobsoorat rachna hai. bahut khoob

    ReplyDelete
  65. शुभकामनायें पूजा !!

    ReplyDelete
  66. Bahut bahut badhai Pooja, behad umda lekhan hai aapka...

    ReplyDelete